Wednesday, July 29, 2009

तस्वीरों के आईने में पूर्ण सूर्यग्रहण


पूर्ण सूर्यग्रहण की यादों को शब्दों में समेटना दुःसाध्य ही है, इसीलिए एक प्रयास इसे तस्वीरों में अभिव्यक्त करने का जो मेरे और अरविन्द मिश्र जी के संयुक्त प्रयास का परिणाम हैं:

सूर्यग्रहण देखने की पृष्ठभूमि तैयार करते प्रियेषा और कौस्तुभ

लो शुरू हो गया ग्रहण, और इसे निहारते अरविन्द मिश्र

सभी ने संभाल ली है अपनी-अपनी कमान: कहीं छुट न जाये एक भी क्षण

और ये लग गया पूर्ण सूर्यग्रहण !

वाराणसी के घाटों पर उतर आया अन्धकार

लौट चले पक्षी भी
छुपी नहीं ग्रहण के उतरने की ख़ुशी : Smiling Surya
इस अद्भुत खगोलीय दृश्य से अभिभूत हमारी टीम :
जिसमें शामिल हैं प्रियेषा, श्रीमति संध्या मिश्रा, श्री अरविन्द मिश्र, मैं, प्रो. मधु प्रसाद (ज़ाकिर हुसेन कालेज; डी यू ), नीचे इजराईल की नोआ और श्री कनिष्क प्रसाद


8 comments:

महेन्द्र मिश्र said...

badhiya foto .
निरन्तर: जोग - जरा मुस्कुरा दें

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

वाह..वाह...
बहुत सुन्दर छायांकन।
अभिषेक मिश्र जी!
आपको बहुत बधाई!

डॉ. मनोज मिश्र said...

बहुत सुन्दर .

विनीता यशस्वी said...

surya grahan ka nazara dekh ki to bas maza aa gaya...

Arvind Mishra said...

unforgetable !

prabhat gopal said...

bahut badhia

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

बहुत सुन्दर! आप पिकसा स्लाइड शो में जमा लें चित्र कैप्शन के साथ तो बड़ा आकर्षक लगेगा!

महामंत्री - तस्लीम said...

Bahut hi shaandaar.
-Zakir Ali ‘Rajnish’
{ Secretary-TSALIIM & SBAI }

वीडियो - "झूला झूले से बिहारी.....'

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...